15.1 C
New Delhi
Thursday, December 1, 2022
Homeखेलअदाणी अहमदाबाद मैराथन का छठा संस्करण 27 नवंबर को

अदाणी अहमदाबाद मैराथन का छठा संस्करण 27 नवंबर को

अहमदाबाद, 24 नवंबर। अहमदाबाद में एम्स द्वारा प्रमाणित प्रीमियर अदाणी अहमदाबाद मैराथन रविवार, 27 नवंबर 2022 को अपने छठे संस्करण के साथ वापसी को तैयार है। रेस को राष्ट्रमंडल खेल (2010) में कुश्ती में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीतने वाली दंगल फेम फ्रीस्टाइल रेसलर गीता फोगाट, भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी रानी रामपाल, एयर मार्शल विक्रम सिंह (वीएसएम, कमांडिंग-इन-चीफ, दक्षिण-पश्चिमी वायु कमांड), मेजर जनरल मोहित वाधवा (जनरल ऑफिसर कमांडिंग) और रेस एम्बेसेडर कारगिल युद्ध वेटरन और भारत के पहले ब्लेड रनर मेजर डीपी सिंह द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जाएगा।

इस साल अहमदाबाद मैराथन भारतीय सशस्त्र बलों के कल्याण के लिए कोई भी राशि दान करने के लिए प्रतिभागियों और जनता को एक मंच प्रदान करके देश की सैन्य सेवाओं का समर्थन करने के लिए अपने मिशन का विस्तार करेगा।

जुटाई गई धनराशि भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना द्वारा कई सशस्त्र बलों के कल्याण कार्यक्रमों और विशिष्ट अस्पतालों और पुनर्वास सुविधाओं जैसे संस्थानों में जाएगी, जो सर्विस मेंबर्स के जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम करते हैं। इन सर्विस मेम्बर्स में ऐसे सैनिक शामिल हैं, जो स्थायी रूप से घायल हैं और इन कार्यक्रमों के माध्यम से उन्हें आजीविका प्रदान की जाती है। साथ ही साथ अहमदाबाद मैराथन 25 और 26 नवंबर को एक बिब और फिटनेस एक्सपो भी आयोजित कर रहा है, जिसमें एक छत के नीचे सर्वश्रेष्ठ फिटनेस ब्रांड्स की एक विस्तृत रेंज प्रदर्शित की जाएगी।

अदाणी एंटरप्राइजेज के निदेशक प्रणव अदाणी ने कहा, “हम अहमदाबाद मैराथन के आगामी सीजन की वापसी से खुश हैं और इसके आयोजन की तारीख का इंतजार कर रहे हैं। यह मैराथन शहर को हमारे सैनिकों के प्रति एकजुटता प्रदर्शित करने का अवसर देता है। केवल 5 वर्षों में, इस मैराथन ने विभिन्न सशस्त्र सेवा कल्याण पहलों (इनिशिएटिव्स) के लिए 2 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटाने में मदद की है। इस साल, हमारा उद्देश्य पुणे के पास किरकी में स्थित पैराप्लेजिक रिहैबिलिटेशन सेंटर के लिए धन जुटाना है, जो हमारे सशस्त्र बलों (सेना, नौसेना और वायु सेना) के उन सदस्यों को बेहतर जीवन जीने में मदद करता है, जिन्हें रीढ़ की हड्डी में चोट लगी है।”

पैराप्लेजिक रिहैबिलिटेशन सेंटर के डॉ कर्नल आरके मुखर्जी ने कहा, “सशस्त्र बलों के लिए अपने हमवतन लोगों से इतना सम्मान और करुणा देखकर हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं। देश की सशस्त्र सेनाएं मजबूत होंगी क्योंकि देश भर से अधिक लोग #Run4OurSoldiers अभियान से जुड़ेंगे। मैं भारतीय सशस्त्र बलों की ओर से सभी का आभार व्यक्त करना चाहता हूं।”

कारगिल वार वेटरन मेजर डीपी सिंह, जिन्हें भारत का पहला ब्लेड रेनर भी माना जाता है, रेस एम्बेसेडर होंगे। भारतीय थल सेना, नौसेना और वायु सेना के 1,000 से अधिक सेवा सदस्य (सर्विस मेंबर्स) अडाणी अहमदाबाद मैराथन में भाग लेंगे।

मेजर डीपी सिंह ने कहा, ” हमारे सशस्त्र बलों के कल्याण को बढ़ावा देने के लिए इस आयोजन को एक त्योहार का रूप देने के लिए अहमदाबाद शहर का एक साथ आना दिल को छू लेने वाला अहसास है। यह गुजरात की सच्ची भावना है। खेल मतभेदों की परवाह किए बिना लोगों को एक साथ लाता है। मुझे उम्मीद है कि पिछले वर्षों की तरह इस साल भी लोग फिटनेस और हमारे सशस्त्र बलों की भावना का सम्मान करने के लिए बड़ी संख्या में एक साथ आएंगे।,”

उन्होंने आगे कहा, “सेना का एक जवान अपने देश के लोगों की रक्षा के लिए अपना कर्तव्य निभाता है। यहां तक कि अपने प्राणों की आहुति भी दे देता है। वह कभी हार नहीं मानता। जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमारा यह भी कर्तव्य है कि हम खुद को फिट और स्वस्थ रखने के साथ-साथ अपने पर्यावरण को भी सुंदर और स्वच्छ बनाए रखें। रनिंग, साइकिल चलाना और अन्य इवेंट्स उस उद्देश्य में योगदान दे रहे हैं और अदाणी अहमदाबाद मैराथन केवल स्वास्थ्य और फिटनेस को बढ़ावा नहीं दे रहा है, इसका मिशन सैनिकों का कल्याण भी है। रेस के माध्यम से उन सर्विस मेंबर्स के जीवन को बेहतर बनाने के लिए धन जुटाकर उन्हें आजीविका के साधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं, जो स्थायी रूप से घायल हो गए हैं।”

देश के सशस्त्र बलों का समर्थन करने वाला #Run4OurSoldiers 2017 में अपनी शुरुआत के बाद से ही शहर का पसंदीदा रन बन गया है। यह आय़ोजन हर साल 15,000 से अधिक धावकों को आकर्षित करता है। वार्षिक रेस आम नागरिकों को भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना के हमारे सेवा सदस्यों (सर्विस मेंबर्स) के साथ भाग लेने और दौड़ने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments