17.1 C
New Delhi
Thursday, December 8, 2022
Homeराष्ट्रीयचंडीगढ़: पर्यटकों को लुभाएगा विंटेज प्रोटोटाइप एयरक्राफ्ट

चंडीगढ़: पर्यटकों को लुभाएगा विंटेज प्रोटोटाइप एयरक्राफ्ट

पैक प्रबंधकों ने वायु सेना को सौंपा सिंगल इंजन एयरक्राफ्ट

चंडीगढ़ में बनने वाले हेरिटेज सेंटर में होगा पुनर्स्थापित

1958 में किया गया था डिजाइन, 1967 में पैक में स्थापना

चंडीगढ़, 21 नवंबर चंडीगढ़ स्थित पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज में वर्षों तक विद्यार्थियों का ज्ञान बढ़ाने वाला विंटेज प्रोटोटाइप एयरक्राफ्ट सोमवार को कालेज से विदा हो गया। यह एयरक्राफ्ट यहां वर्ष 1967 से रखा हुआ था। अब भारतीय वायु सेना द्वारा इसे चंडीगढ़ के सेक्टर-18 में स्थापित किए जा रहे भारतीय वायु सेना हेरिटेज सेंटर में स्थापित किया जाएगा।

इस सिंगल इंजन दुर्लभ मशीन को स्वर्गीय एयर वाइस मार्शल हरजिंदर सिंह वीएसएम-1, एमबीई द्वारा वर्ष 1958 में डिजाइन और निर्मित किया गया था। पूर्ण रूप से स्वदेशी मशीन को सौंपने के लिए पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़ के एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग डिवीजन में सोमवार शाम एक भव्य समारोह आयोजित किया गया। एयर मार्शल आर राधीश एवीएसएम वीएम, एसएएसओ, मुख्यालय पश्चिमी वायु कमान द्वारा प्रो. बलदेव सेतिया निदेशक पीईसी से विमान प्राप्त किया गया।

वर्ष 1967 में एवीएम हरजिंदर सिंह द्वारा पीईसी को उपहार में दिए गए इस विंटेज क्वीन एयरक्राफ्ट एविएशन हेरिटेज के साथ एक मजबूत बंधन साझा करता है। कानपुर-1 विमान को आईएएफ हेरिटेज सेंटर में अन्य विमानों के साथ प्रदर्शित किया जाएगा। यह विमान आत्मनिर्भरता, नवाचार और ‘मेक इन इंडिया’ के सपने के महत्व को समझने के लिए आने वाली पीढ़ियों के लिए गौरवशाली के क्षण का प्रतीक है।

इस अवसर पर एयर मार्शल आर. राधीश ने बताया कि इस विमान को आईएएफ हेरिटेज सेंटर में रखने से न केवल विरासत मूल्यों का संरक्षण होगा बल्कि पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज और भारतीय वायु सेना के बीच मजबूत संबंध भी कायम होगा।

एयर मार्शल ने पीईसी के योगदान को देखकर कहा कि 1964 में इस डिवीजन के पहले बैच के 17 छात्र भारतीय वायुसेना में शामिल हुए हैं और अन्य डीजीसीए में शामिल हुए जिनमें एवीएम एसएस ढिल्लों, एवीएम पीपीएस काहलों, विंग कमांडर एचडी तलवार, विंग कमांडर एसएस विरदी, विंग कमांडर आरसी चौधरी, विंग कमांडर एनके कोहली के नाम आते हैं।

आईएएफ हेरिटेज सेंटर चंडीगढ़ में भारतीय वायुसेना के विभिन्न पहलुओं को उजागर करने के लिए कलाकृतियों, सिमुलेटर और इंटरेक्टिव बोर्ड लगाए जाएंगे। यह भारतीय वायुसेना द्वारा युद्ध के अलावा मानवीय सहायता, आपदा राहत के लिए निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका को प्रदर्शित करेगा। इसमें विभिन्न विंटेज विमान भी होंगे।

इससे पूर्व पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के निदेशक डॉ. बलदेव सेतिया ने समारोह में उपस्थित गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया। समारोह में वायु सेना के एयर वाइस मार्शल जीके मोहन एयर ऑफिसर कमांडिंग,एडवांस मुख्यालय डब्ल्यूएसी,एयर कमोडोर मंसीज लाल एयर ऑफिसर कमांडिंग,12 विंग, एयर कमोडोर राजीव श्रीवास्तव एयर ऑफिसर कमांडिंग, 3 बीआरडी, ग्रुप कैप्टन पीएस लांबा वीएसएम, ओआईसी हेरिटेज सेंटर, ग्रुप कैप्टन वी अनिल कुमार, स्टेशन कमांडर 1, विंग कमांडर अरुण वर्मा शामिल थे। इस अवसर पर पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक के एडीसी स्क्वाड्रन लीडर अमित तिवारी भी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments