23.1 C
New Delhi
Thursday, October 6, 2022
Homeराष्ट्रीयतेलंगाना को नहीं बनने देंगे जेहादियों की पनाहगाह: डॉ सुरेन्द्र जैन

तेलंगाना को नहीं बनने देंगे जेहादियों की पनाहगाह: डॉ सुरेन्द्र जैन

हैदराबाद/नई दिल्ली, 12 सितंबर। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने केन्द्र और तेलंगाना सरकार से अवैध मतांतरण और लव जिहाद विरोधी कानून बनाने की मांग की और कहा कि वह तेलंगाना को जेहादियों की पनाहगाह नहीं बनने देंगे।

विहिप के संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेंद्र जैन ने भाग्यनगर के प्रेस क्लब में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आज संपूर्ण विश्व में जिहादी आक्रामकता बढ़ रही है। जिहाद के विभिन्न प्रकारों से मानवता त्रस्त है। लव जिहाद मानवता के विरुद्ध एक बड़ा और घृणित अपराध सिद्ध हो रहा है। जेहादियों के इस कुकृत्य पर अब विराम लगना ही चाहिए। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका भी इसे धर्मांतरण का सबसे घृणित स्वरूप मानती है। आज संपूर्ण विश्व में इस महिला विरोधी विकृत मानसिकता के विरोध में आक्रोश बढ़ रहा है। जिसकी परिणति म्यानमार, श्रीलंका और लद्दाख में देखने को मिली।

जैन ने कहा कि अगर शांतिप्रिय बौद्ध समाज में इतनी तीखी प्रतिक्रिया हो सकती है तो शेष मानव समाज की प्रतिक्रिया की कल्पना सहज ही की जा सकती है जिसके लिए केवल जेहादी मानसिकता और इन को भड़काने वाले मुस्लिम नेता ही जिम्मेदार होंगे। विहिप भारत सरकार से अपील करती है कि वे लव जिहाद और अवैध मतांतरण विरोधी कानून अति शीघ्र लाएं और भारत को इस अपराध से मुक्ति दिलाएं।

विहिप नेता ने कहा कि तेलंगाना के जेहादी महिला विरोधी मानसिकता के कारण पहले से ही कुख्यात हैं। मुत्ताह निकाह के नाम पर पूरी दुनिया के अय्याश शेखों की यह पहले से ही ऐशगाह बना हुआ है परंतु हिंदू महिलाएं भी रजाकारों के समय से ही इस विकृत मानसिकता से पीड़ित रही हैं। आदिलाबाद, भद्राचलम, भोपालपल्ली, मुलुगू जैसे क्षेत्रों के जनजाति समाज इनके विशेष निशाने पर हैं। हिंदू नाम रख कर ये जिहादी उनकी भोली भाली लड़कियों को ही नहीं उनकी जमीनों पर भी कब्जा कर रहे हैं। इन जनजातियों का धर्म, महिला, परंपरा और जमीन आज खतरे में है।

उन्होंने कहा कि एआईएमआईएम के इशारे पर चलने वाली तेलंगाना सरकार जिहादियों को बढ़ावा दे रही है। हिंदू विरोधी जेहादी मानसिकता के कारण आज यह स्थिति बन गई है कि कोई भी हिंदू लड़की या लड़का किसी मुस्लिम लड़के या लड़की से विवाह कर लेता है और मतांतरण नहीं करता तो उसको अपने जीवन से हाथ धोना पड़ता है। विकाराबाद में नागराज नामक हिंदू लड़के ने जब आफरीन बेगम के साथ विवाह किया तो उसकी नृशंस हत्या का मामला ज्यादा पुराना नहीं हुआ है।

अवैध धर्मांतरण की घटनाओं में भी काफी वृद्धि हुई है। देश की कई राज्य सरकारों ने लव जिहाद व अवैध मतांतरण पर रोक लगाने के लिए कानून बनाए हैं। विहिप तेलंगाना सरकार से मांग करती है कि वह भी तेलंगाना की संस्कृति और समाज के प्रति अपने दायित्व को समझें और शीघ्र ही मतांतरण और लव जिहाद विरोधी कानून बनाएं।

डॉ सुरेंद्र जैन ने कहा कि दुर्भाग्य से तेलंगाना सरकार की हिंदू विरोधी मानसिकता खुलकर सामने आ चुकी है। वे हिंदू उत्सवों पर तरह तरह के प्रतिबंध लगाते हैं परंतु गैर हिंदुओं के उत्सवों पर सब प्रकार की छूट देते हैं। अपने उत्सव पर जब हिंदू अपने घर जाता है तो स्पेशल बस के नाम पर कई गुना किराया लेकर मानो जजिया वसूला जाता है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments