15.1 C
New Delhi
Thursday, December 1, 2022
Homeविविधबिजनेसइंडियन ऑयल के निदेशक (रिफाइनरीज) शुक्ला मिस्त्री को मिला स्टीवी पुरस्कार

इंडियन ऑयल के निदेशक (रिफाइनरीज) शुक्ला मिस्त्री को मिला स्टीवी पुरस्कार

बेगूसराय, 14 नवम्बर। इंडियन ऑयल के निदेशक (रिफाइनरीज) शुक्ला मिस्त्री ने ”स्टीवी” वुमन ऑफ द ईयर (विनिर्माण श्रेणी) के लिए गोल्ड ट्रॉफी तथा वुमन ऑफ द ईयर (उद्योग श्रेणी) के लिए सिल्वर ट्रॉफी जीत गई है।

व्यापार में महिलाओं के लिए विश्व के प्रतिष्ठित यह स्टीवी पुरस्कार विगत 12 नवम्बर को अमेरिका के लास वेगास में आयोजित समारोह में प्रदान किए गए। शुक्ला मिस्त्री इस वैश्विक मंच पर सम्मानित किए जाने वाली बहुत कम भारतीयों में से हैं और इंडियन ऑयल में पहली हैं। व्यवसाय में महिलाओं के लिए स्टीवी पुरस्कार दुनिया के प्रतिष्ठित व्यावसायिक पुरस्कार है, जो दुनिया भर में प्रोफेशनल महिलाओं की उपलब्धियों और सकारात्मक योगदान को सम्मान देने के लिए स्थापित किए गए हैं।

इंडियन ऑयल के मुख्य महाप्रबंधक (कॉर्पोरेट संचार, हिंदी एवं सीएसआर) अनीता श्रीवास्तव ने आज बताया कि जिन दो श्रेणियों में शुक्ला मिस्त्री ने यह पुरस्कार जीता है, उनमें अन्य महिला दिग्गजों में थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के कॉर्पोरेट लीडर्स स्पर्धा में शामिल थी। इस पुरस्कार ने शुक्ल मिस्त्री को वैश्विक महिला लीडरों के एक विशिष्ट क्लब में शामिल कर दिया है, जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रों में नेतृत्व के उत्कृष्ट मानदंड स्थापित किए हैं और युवा महिला प्रोफेशनल्स को नए शिखर हासिल करने की प्रेरणा देती है।

उल्लेखनीय है कि शुक्ला मिस्त्री भारतीय हाइड्रोकार्बन उद्योग की पहली महिला निरीक्षण इंजीनियर हैं, जिन्होंने 1987 में भारत की अग्रणी ऊर्जा कंपनी इंडियन ऑयल में ज्वाइन किया था। वह अमीरात नेशनल ऑयल कंपनी दुबई (2001) में निरीक्षण और संयंत्र टर्न-अराउंड के लिए तथा बाद में दक्षिण कोरिया और कतर में कतर पेट्रोलियम के लिए डिजाइन कार्य तथा तीन सौ मिलियन अमेरिकी डॉलर की लीनियर एल्कलाइन बेंजीन परियोजना (2004) की कमीशनिंग के लिए प्रतिनियुक्ति पर चुनी गई एकमात्र भारतीय महिला इंजीनियर थी।

वह इंडियन ऑयल में कार्यकारी निदेशक और रिफाइनरी प्रमुख का पद संभालने वाली पहली महिला भी है। पहले उन्होंने डिगबोई रिफाइनरी (असम) जो एशिया की सबसे पुरानी कार्यरत रिफाइनरी है तथा उसके बाद में भारत की छह एमएमपीटीए बरौनी रिफाइनरी (बिहार) का भी नेतृत्व किया। इसी वर्ष सात फरवरी को इंडियन ऑयल बोर्ड में पहली महिला कार्यात्मक निदेशक बनी और भारतीय तेल एवं गैस क्षेत्र में इतिहास रचा। जटिल कार्यों को दक्षता से संभालने, उत्कृष्टता और कार्य नैतिकता के उच्च मानकों को स्थापित करने के लिए जानी जाने वाली शुक्ल मिस्त्री अब 70.05 एमएमटीपीए तथा मेगा पेट्रोरसायन यूनिटों की रिफाइनिंग क्षमता वाली इंडियन ऑयल की नौ रिफाइनरियों के संचालन का नेतृत्व कर रही है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments