17.1 C
New Delhi
Thursday, December 8, 2022
Homeराष्ट्रीय'द अर्थशॉट' की फाइनलिस्ट सूची में कानपुर आईआईटी के फ्लेदर ने बनाई...

‘द अर्थशॉट’ की फाइनलिस्ट सूची में कानपुर आईआईटी के फ्लेदर ने बनाई जगह

– पुरस्कार जीतने पर कानपुर के फ्लेदर को मिलेगा एक मिलियन पाउंड

कानपुर, 07 नवम्बर । वैश्विक पटल पर मेधा के जरिये कानपुर आईआईटी के छात्र छाये हुए हैं और बराबर शोध कार्य कर रहे हैं। पूर्व छात्र अंकित अग्रवाल और प्रतीक कुमार ने कानपुर आईआईटी के समर्थन से इनक्यूबेटेड स्टार्टअप ‘फूल डॉट को’ के जरिये फ्लेदर को विकसित किया। यह फ्लेदर चमड़े के लिए क्रांतिकारी विकल्प है जो फूल द्वारा विकसित किया गया है। इसकी उपयोगिता इस बात से साबित होती है कि विश्व के प्रतिष्ठित पुरस्कार ‘द अर्थशॉट’ की समिति ने फाइनलिस्ट सूची में इसको जगह दी है। पुरस्कार जीतने पर एक मिलियन पाउंड यानी भारतीय रुपये की दृष्टि से नौ करोड़ से अधिक मिलेंगे।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने सोमवार को बताया कि आईआईटी कानपुर समर्थित नवाचार फ्लेदर ने वैश्विक स्तर पर ख्याति अर्जित की। ब्रिटेन के प्रिंस विलियम ने दूसरे वार्षिक द अर्थशॉट पुरस्कार के लिए 15 फाइनलिस्टों की सूची का अनावरण किया, जिसमें कानपुर आईआईटी के इनक्यूबेटेड स्टार्टअप ‘फूल डॉट को’ द्वारा विकसित फ्लेदर को भी जगह मिली है। ‘द अर्थशॉट’ पुरस्कार विश्व में सबसे प्रतिष्ठित पर्यावरण पुरस्कारों में से एक है। यह फ्लेदर उत्पाद चमड़े के लिए एक क्रांतिकारी विकल्प है जिसे फूल द्वारा पशु-मुक्त चमड़े के रूप में विकसित किया गया है। ये जुलाई 2017 में अंकित अग्रवाल और प्रतीक कुमार द्वारा आईआईटी कानपुर के प्रौद्योगिकी व्यवसाय इनक्यूबेटर स्टार्टअप इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर से महत्वपूर्ण इन्क्यबेशन समर्थन के साथ स्थापित एक स्टार्टअप है। हालांकि, फूलों के कचरे को टिकाऊ उत्पादों में बदलने का विचार और काम टीम द्वारा 2015 में ही शुरू किया गया था। आईआईटी कानपुर से महत्वपूर्ण आरएंडडी समर्थन और वित्त पोषण के साथ, फूल टीम ने फूलों के कचरे से अगरबत्ती बनाने के साथ शुरुआत की और फिर पशु-आधारित चमड़े व प्लास्टिक के विकल्प के रूप में ‘फ्लेदर’ को पेश किया।

यूएसए के बोस्टन में दिया जाएगा पुरस्कार

निदेशक ने बताया कि संयुक्त राज्य अमेरिका के मासेचुसेट्स राज्य की राजधानी बोस्टन में दो दिसम्बर को दूसरे वार्षिक ‘द अर्थशॉट पुरस्कार की घोषणा की जाएगी। इस पुरस्कार के जीतने पर एक मिलियन पाउंड मिलेगा जो भारतीय रुपये में नौ करोड़ से अधिक होगा। यह पुरस्कार राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी के ‘मूनशॉट’ से प्रेरित है। विज्ञान, संरक्षण, नवाचार, निवेश, अर्थशास्त्र, राजनीति और सक्रियता में विशेषज्ञता वाले सलाहकारों के एक पैनल द्वारा 10 महीने की कठोर चयन प्रक्रिया के बाद 1,000 से अधिक नामांकन में से फाइनलिस्ट का चयन किया गया। फूल डॉट को द्वारा फ्लेदर को ‘द अर्थशॉट प्राइज टू बिल्ड ए वेस्ट-फ्री वर्ल्ड’ श्रेणी में चुना गया है। फूलों के कचरे को अगरबत्ती में बदलने से लेकर जानवरों के चमड़े से शाकाहारी विकल्प बनाने तक-फ्लेदर, जिस टिकाऊ मॉडल अनुसरण कर रहा है, वो वास्तव में पर्यावरण को लाभ पहुंचाता है और अर्थव्यवस्था को बढ़ने में मदद करता है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments