22.1 C
New Delhi
Tuesday, December 6, 2022
Homeअन्य राज्यउत्तर प्रदेशसहकारी समिति में एक माह से लटक रहा ताला, किसान परेशान

सहकारी समिति में एक माह से लटक रहा ताला, किसान परेशान

किसानों को नहीं मिल पा रहा खाद, सचिव पर क्षेत्रवासियों ने लगाये गम्भीर आरोप

झांसी, 22 नवंबर । किसानों के लिए खाद बीज में किसी प्रकार की कोई किल्लत नहीं होनी चाहिए। ऐसी शासन की मंशा है। इसके इतर टहरौली तहसील के ग्राम हाटी में स्थापित नौटा साधन सहकारी समिति लिमिटेड में पिछले एक महीने से ताला लटका हुआ है। यहां पदस्थ सचिव की मनमानी और लगातार गैरहाजिरी के कारण यह सहकारी समिति बन्द होने के कगार पर आ चुकी है। लाख कोशिशों के बाबजूद न तो किसानों को डीएपी मिल रहा है और न ही यूरिया। किसान दर- दर भटकने को मजबूर हैं।

क्षेत्र के ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुये बताया कि नौटा साधन सहकारी समिति लिमिटेड हाटी पर पिछले अक्टूबर माह की 24 तारीख को एक ट्रक खाद आया था। इसको यहाँ पदस्थ सचिव द्वारा मनमाने ढंग से अपने चहेतों में वितरित करके अपने काम से इतिश्री कर ली गयी। लोगों द्वारा आरोप लगाया गया कि यहाँ पदस्थ सचिव एक पार्टी के एजेंट के रूप में कार्य करते हैं और क्षेत्र के किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी नहीं देते हैं और न ही समय पर कभी यूरिया और डीएपी उपलब्ध करवाते हैं।

इस साधन सहकारी समिति से खजराहा, नौटा, हाटी, घांघरी, दरवटयाऊ आदि ग्रामों के किसानों को लाभ मिलता था लेकिन वर्तमान में यहाँ पदस्थ सचिव के लगातार गैरहाजिर रहने से पिछले एक माह से बन्द पड़ी हुई है जिसके कारण क्षेत्र के किसानों में भारी रोष एवं असंतोष व्याप्त है। जितेन्द्र साहू, राजेन्द्र दीक्षित, राहुल, आदि ने जिलाधिकारी झाँसी से नौटा साधन सहकारी समिति लिमिटेड हाटी में लगातार गैरहाजिर रहने वाले सचिव एवं अन्य कर्मचारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करके निलम्बित करने की मांग की है।

बोले सचिव,सकरार के कारण नहीं दे पा रहा समय

नौटा साधन सहकारी समिति लिमिटेड हाटी के सचिव अनूप यादव से जब लगातार गैरहाजिर रहने की वजह फोन पर पूछी गयी तो उन्होंने कहा कि उनके पास सकरार का भी चार्ज है। जिसकी वजह से उनको समय देना पड़ता है। सकरार में उनके अलावा अन्य कोई और कर्मचारी नहीं है। एक माह से नौटा साधन सहकारी समिति लिमिटेड हाटी का ताला न खोले जाने पर उन्होंने कहा कि वहाँ एक और कर्मचारी है एवं एक प्राइवेट तौर पर रखा हुआ है जो कि बैंक और रिकवरी के काम से क्षेत्र में रहते हैं जिस कारण समिति नहीं खुल पा रही है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments