31.1 C
New Delhi
Wednesday, September 28, 2022
Homeखेलभारत के लिए और उपलब्धि, नीरज चोपड़ा डायमंड लीग का खिताब जीतने...

भारत के लिए और उपलब्धि, नीरज चोपड़ा डायमंड लीग का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय

स्विट्जरलैंड, 9 सितंबर। टोक्यो ओलंपिक 2020 में स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए एक और उपलब्धि हासिल की। नीरज चोपड़ा ने गुरुवार को स्विट्जरलैंड में ज्यूरिख डायमंड लीग फाइनल 2022 का खिताब अपने नाम किया है। इसके साथ ही वह इस खिताब को जीतने वाले पहले भारतीय भी बन गए हैं।

मुकाबले के दौरान बादल छाए रहने के बावजूद नीरज चोपड़ा ने लेट्ज़िग्रुंड स्टेडियम में बेहतरीन शुरुआत की। हालांकि उनका पहला प्रयास फाउल हो गया लेकिन भारतीय भाला फेंक खिलाड़ी नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में 88.44 मीटर का थ्रो किया और अपने अगले थ्रो में 88.00 मीटर को छुआ। इसके बाद चोपड़ा ने अपने चौथे प्रयास में 86.11 का रिकॉर्ड थ्रो किया और पांचवें और अपने अंतिम प्रयास में एक एक्सएम थ्रो के साथ इस मुकाबले का समापन किया।

नीरज चोपड़ा ने 2016 डायमंड लीग चैंपियन और टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता चेक रिपब्लिक के जैकब वाडलेज को हराकर यह खिताब जीता है। वाडलेज अपने सीजन के 90.88 मीटर के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो से काफी पीछे रह गए और 86.94 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ दूसरे स्थान पर रहे जबकि मौजूदा यूरोपीय चैंपियन जर्मनी के जूलियन वेबर 83.73 मीटर थ्रो के साथ तीसरे स्थान पर रहे। उनके बाद यूएसए के कर्टिस थॉम्पसन (82.40 मीटर), लातविया के पैट्रिक गेलम्स (80.44 मीटर) और पुर्तगाल के राष्ट्रीय चैंपियन लिएंड्रो रामोस (71.96 मीटर) थे।

उल्लेखनीय है कि इस सीजन में डायमंड लीग इवेंट की एक सीरीज के माध्यम से कुल छह फाइनलिस्ट ज्यूरिख में ग्रैंड फाइनल में हिस्सा लिया।

ग्रेनेडा के विश्व चैंपियन एंडरसन पीटर्स ने भी 2022 के ग्रैंड फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था पर एक ऑफ-द-फील्ड अटैक से उबरने में असफल रहने के बाद रिजर्व एथलीट लिएंड्रो रामोस द्वारा रिप्लेसमेंट किया गया।

नीरज चोपड़ा ने पिछले माह लुसाने डायमंड लीग जीतकर और जून में स्टॉकहोम डायमंड लीग में दूसरे स्थान पर रहने के बाद अपने तीसरे डायमंड लीग ग्रैंड फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था। इसके अलावा उन्होंने स्टॉकहोम मीट में 89.94 मीटर थ्रो के साथ अपने ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड को और बेहतर बनाया था।

साल 2017 डायमंड लीग फाइनल में, नीरज चोपड़ा आठ फाइनलिस्टों के बीच 83.80 मीटर थ्रो के साथ सातवें स्थान पर रहे थे। भारतीय जैवलिन थ्रोअर ने अगले वर्ष अपने रिकॉर्ड में और सुधार किया और 85.73 मीटर के प्रयास के साथ चौथे स्थान पर पहुंच गए। इस जीत के साथ नीरज चोपड़ा ने 2022 का सीजन एक शानदार अंदाज में पूरा किया।

24 वर्षीय नीरज चोपड़ा ने छह प्रतियोगिताओं में भाग लिया और इस सीजन में दो बार अपने ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड को तोड़ दिया। नीरज चोपड़ा जुलाई में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय भी बने। हालांकि, भारतीय एथलीट अपने कमर की चोट के कारण कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में हिस्सा नहीं ले सके थे लेकिन उन्होंने लुसाने में डायमंड लीग जीतकर पहले भारतीय बनकर अपनी वापसी को चिह्नित किया और अंत में वह डायमंड लीग ट्रॉफी जीतने वाले पहले भारतीय बने।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments