22.1 C
New Delhi
Tuesday, December 6, 2022
Homeहरियाणामोस्ट वांटेड नीरज उर्फ चौटाला 3 अन्य साथियों सहित गिरफ्तार।

मोस्ट वांटेड नीरज उर्फ चौटाला 3 अन्य साथियों सहित गिरफ्तार।

ये आरोपी किये गए हैं गिरफ्तार 

– नीरज उर्फ चौटाला गांव कामी जिला सोनीपत, योगेश उर्फ कृष्ण व रवि निवासी राठधना सोनीपत (स्विफ्ट गाड़ी चालक)और राहुल गांव नाहरी सोनीपत।

55 हजार का ईनामी मोस्ट वांटेड हैं नीरज उर्फ चौटाला ।

-आरोपियों के पास से 2 पिस्टल, 1 देसी कट्टा एवं 9 कारतूस तथा मारुति स्विफ्ट गाड़ी हुई बरामद।

– नाका तोड़कर एसटीएफ कर्मियों को गाड़ी से रौंदने का किया प्रयास मगर एसटीएफ ने पीछा कर दबोचे अपराधी।

– पानीपत एवं चरखी दादरी में जघन्य ह#त्याओं के अलावा कई संगीन अपराधों में लिप्त रहा है नीरज उर्फ चौटाला।

खरखौदा ,सोमपाल सैनी 11 नवम्बर को एसटीएफ हरियाणा की बहादुरगढ़ यूनिट ने एक बार फिर साहस का परिचय देते हुए न केवल कुख्यात नीरज उर्फ चौटाला को धर-दबोचने में कामयाबी हासिल की है।

 बल्कि उसके 3 अन्य साथी बदमाशों को भी सलाखों के पीछे पहुंचाने में सफलता पाई है। 

आरोपियों के पास से 2 पिस्टल एवं 1 देसी कट्टे के अलावा 9 कारतूस भी बरामद किए गए हैं। उनकी उस स्विफ्ट कार को भी पुलिस ने कब्जे में लिया है।

 जिसमें सवार होकर उपरोक्त सभी बदमाश गन्नौर हाईवे से गुजर रहे थे और उन्होंने गिरफ्तारी से बचने एवं भागने के लिए एसटीएफ टीम को कुचलने का प्रयास किया।

 उप पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कीन्हा ने जानकारी देते हुए बताया कि एसटीएफ बहादुरगढ़ के प्रभारी इंस्पेक्टर विवेक मलिक की टीम एक सीक्रेट इन्फॉर्मेशन पर सोनीपत के बड़ी क्षेत्र में मौजूद थी।

 टीम के पास मोस्ट वांटेड नीरज उर्फ चौटाला निवासी कामी, जिला सोनीपत के बारे में पुख्ता सूचना थी।

 इसी आधार पर टीम ने पानीपत की ओर जाने वाले रास्ते पर नाकाबंदी की थी। लेकिन मारुति स्विफ्ट कार चालक ने नाके को तोड़ते हुए पुलिस कर्मियों को गाड़ी से रौंदने का प्रयास किया और गाड़ी को तेज गति से भगा लिया। तत्परता दिखाते हुए एसटीएफ टीम ने

खुद को बचाते हुए बदमाशों का पीछा कर गन्नौर पुल के नीचे उनको घेर लिया। तभी अचानक से चार नौजवान लड़के स्विफ्ट से उतरे और भागने लगे लेकिन हाथापाई और जद्दोजहद के बाद एसटीएफ़ ने चारों को काबू कर लिया।

इंस्पेक्टर विवेक मलिक के अनुसार गिरफ्तार किए गए नीरज उर्फ चौटाला का आपराधिक रिकॉर्ड रहा है। और उस पर हरियाणा पुलिस की तरफ से कुल 55 हजार रुपये का ईनाम भी घोषित है।

नीरज उर्फ चौटाला ने 18 जनवरी 2019 को पानीपत में 21 साल के नौजवान नितिन पुत्र हरमिन्दर को घर के बाहर बुलाकर गोलियां मारकर जघन्य ह#त्या कर दी थी। अपने कुछ दोस्तों की नितिन के साथ लड़ाई-झगड़े के चलते उसने इस वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गया था। पानीपत पुलिस ने काफी तलाश की लेकिन वह हाथ नहीं लग सका।

इसी तरह से 1 सितम्बर 2018 को आरोपी नीरज उर्फ चौटाला ने दादरी क्षेत्र के गांव सरुपगढ़ स्थित एक शराब के ठेके पर भी अंधाधुंध फायरिंग करके ढिलु उर्फ बजरंग नाम के व्यक्ति को मौ#त के घाट उतार दिया था। जबकि कई अन्य भी उस घटना में गोलियां लगने से जख्मी हुए थे।

जघन्य हत्याओं की उपरोक्त घटनाओं के अलावा नीरज चौटाला पर दिसम्बर 2019 में समालखा के एक प्रॉपर्टी डीलर से फिरौती मांगने समेत, अलग-अलग जिलों में ह#त्या के प्रयास, लूटपाट, मार#पीट एवं आर्म्स एक्ट जैसे करीब आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। रोहतक पुलिस द्वारा भी आरोपी पर 5 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया हुआ है।

बरामदगी में नीरज उर्फ चौटाला, योगेश एवं रवि के पास से 2 पिस्टल, 1 देसी कट्टा तथा 9 कारतूस बरामद हुए हैं जबकि उनके साथ राहुल के पास से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है।

नीरज उर्फ चौटाला के अलावा शेष आरोपियों का आपराधिक रिकार्ड जांचा जा रहा है। गिरफ्तार सभी आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जायेगा।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments