30.1 C
New Delhi
Sunday, September 25, 2022
Homeराष्ट्रीयदिल्ली में इस बार भी पटाखों के उत्पादन, भंडारण और बिक्री पर...

दिल्ली में इस बार भी पटाखों के उत्पादन, भंडारण और बिक्री पर रोक

– पटाखों की ऑनलाइन बिक्री व डिलीवरी भी प्रतिबंधित

नई दिल्ली, 07 सितंबर। दिल्ली सरकार ने सर्दियों के मौसम में बढ़ने वाले वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए पिछले साल की तरह इस बार भी सभी प्रकार के पटाखों के उत्पादन, भंडारण, बिक्री और उनके इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को बताया कि दिल्ली में इस बार पटाखों की ऑनलाइन बिक्री व डिलीवरी पर भी प्रतिबंध लगाया गया है और यह प्रतिबंध एक जनवरी 2023 तक लागू रहेगा। साथ ही प्रतिबंध को कड़ाई से लागू कराने के लिए दिल्ली पुलिस, डीपीसीसी और राजस्व विभाग के साथ मिलकर संयुक्त कार्ययोजना बनायी जाएगी।

प्रतिबंध के बारे में अधिक जानकारी देते हुए राय ने बताया कि दिल्ली में सर्दियों के मौसम में बढ़ने वाली प्रदूषण की समस्याओं में पटाखों का जलाना भी एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक साबित होता है। ऐसे में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए पिछले साल की तरह इस बार भी हर प्रकार के पटाखों के उत्पादन , भंडारण, बिक्री एवं उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जा रहा है, जिससे लोगों की जिंदगी बचाई जा सके।

साथ ही पिछले साल यह देखा गया था की लोगों द्वारा काफी भरी मात्रा में ऑनलाइन पटाखे खरीदे गए थे , इसी कारण किसी भी तरह के पटाखों की ऑनलाइन डिलीवरी या बिक्री पर भी इस वर्ष पूर्ण प्रतिबंध रहेगा और पटाखों को लेकर लोगो में किसी भी तरह की असमंजस न रहे इसलिए यह प्रतिबंध हर तरह के पटाखों के लिए है। यह प्रतिबंध एक जनवरी 2023 तक दिल्ली में लागू रहेगा ताकि पटाखों के जलाने से होने वाली प्रदूषण की समस्या से दिल्लीवासियों को निजात दिलाई जा सके।

उन्होंने आगे बताया की पिछले वर्ष दिल्ली में पटाखों की आसानी से उपलब्धता के कारण लोगों द्वारा पटाखे फोड़ने की कई घटनाएं सामने आईं थी। साथ ही दिल्ली सरकार इस बार नहीं चाहती है कि व्यापारियों और डीलरों को किसी भी तरह का आर्थिक नुकसान हो। ऐसी किसी भी स्थिति से बचने के लिए समय रहते हर प्रकार के पटाखों के उत्पादन, भंडारण, बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। और इसे कड़ाई से पूरी दिल्ली में लागू कराने के लिए दिल्ली पुलिस , डीपीसीसी, और राजस्व विभाग के साथ मिलकर संयुक्त कार्ययोजना तैयार की जाएगी।

राय ने कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण को नियंत्रित करने को लेकर बेहद गंभीर है। प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए सरकार 15 फोकस बिंदुओं पर आधारित विंटर एक्शन प्लान बना रही है। आगामी दिनों में विंटर एक्शन प्लान के अनुसार विभिन्न अभियान चलाए जाएंगे, ताकि प्रदूषण को नियंत्रित किया जा सके। ऐसे में हमारी दिल्ली निवासियों से अपील हैं कि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए सरकार के साथ सहभागिता दें।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए हम सभी को मिलकर जिम्मेदारी लेनी होगी। यदि दिल्ली का हर नागरिक एक प्रदूषण योद्धा बन करके पर्यावरण को बचाने के लिए मोर्चा संभाल लेगा तो प्रदूषण के कारण लोगों की सांसों पर जो संकट आता है, उससे हम उन्हें बचा सकेंगे। हम दिल्लीवासियों से यही कहना चाहते हैं कि दीए जलाकर और मिठाई बांटकर दिवाली मनाएं। हमें दीपावली को धूमधाम से मनाना है लेकिन उतनी ही जिम्मेदारी से प्रदूषण पर भी लगाम लगाना है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments