30.1 C
New Delhi
Sunday, September 25, 2022
Homeअन्य राज्यबिहारसत्ता नहीं, समाज परिवर्तन है विद्यार्थी परिषद का लक्ष्य : सुजीत सान्याल

सत्ता नहीं, समाज परिवर्तन है विद्यार्थी परिषद का लक्ष्य : सुजीत सान्याल

बेगूसराय, 11 सितम्बर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुजीत सान्याल ने कहा है कि विद्यार्थी परिषद अपने स्थापना काल से सत्ता परिवर्तन को लेकर कार्यरत नहीं रहा है। विद्यार्थी परिषद का लक्ष्य केवल और केवल समाज परिवर्तन ही है।

वैदेही गर्ल स्कूल बीहट में आयोजित नगर अभ्यास वर्ग को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि समाज परिवर्तन के लिए विद्यार्थी परिषद सामूहिकता अनामिकता और पारस्परिकता से कार्य करते हुए अपने सामाजिक आधार को विस्तार प्रदान करती है। साथ ही समाज में आए परिवर्तन को भी अंगीकार करने का कार्य करती है। आज देश को खंडित करने वाले स्वार्थी सिद्धि के लिए भारत जोड़ो की बात कर रहे हैं।

पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य अजीत चौधरी एवं विभाग प्रमुख विजेन्द्र कुमार ने कहा कि नगर अभ्यास वर्ग में सीखे हुए दिनचर्या का पालन आप अपने निजी जीवन में करें। जिससे कि आपका जीवन सुखमय एवं आनंदमय रहे तथा राष्ट्र के विकास में हमेशा सहभागी बने रहें। परिषद कार्यकर्ताओं से है, इसलिए हमारा क्रियाकलाप कार्यकर्ताओं के लिए समर्पित है।

कार्यक्रम संयोजक गुड्डू शांडिल्य, राज्य विश्वविद्यालय कार्य प्रमुख कन्हैया कुमार एवं जिला संयोजक सोनू कुमार ने कहा कि नए कार्यकर्ताओं के अंदर संगठनात्मक एवं रचनात्मक गुणों के विकास के लिए नगर अभ्यास वर्ग का आयोजन हुआ। जिसमें अलग-अलग सत्रों में सैद्धांतिक भूमिका, कार्य पद्धति आंदोलन, भाषण, नारा से संबंधित व्यवहारिक प्रशिक्षण इत्यादि क्रिया कलाप हुआ। पूर्व मुख्य पार्षद अशोक कुमार सिंह ने कहा कि विद्यार्थी परिषद सदैव अपने कार्यों से समाज को नई सीख देते आया है, उम्मीद है आगे भी अपने कार्यक्रम से समाज का दिल जीतने का काम करेगा।

जिला प्रमुख मुकेश कुमार एवं प्रदेश कार्यकारणी सदस्य यशस्वी आनंद ने यहां से सीखे हुए विचारों को जीवन में उतारने के लिए प्रेरित करते हुए धन्यवाद ज्ञापन किया। पूर्व नगर अध्यक्ष चंदन कुमार एवं पूर्व नगर मंत्री मनीष कुमार ने बताया कि अभ्यास वर्ग में 220 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। साल भर के कार्यक्रम का विवरण प्रस्तुत करने के साथ संगठन को नए ऊंचाई तक ले जाने का मूल मंत्र बताया गया है।

विभाग सह संयोजक शिवम कुमार एवं छात्र नेता ऋषि राज ने कहा कि बीहट में वर्ष भर में कई बड़े-बड़े कार्यक्रम आयोजित होते रहे हैं। नेकी की दीवार के माध्यम से समाज के बीच एक संदेश देने का भी कार्य किया गया कि जरूरत के अत्यधिक चीजों को दूसरे से साझा करें ताकि वो अपनी जरूरत को आसानी से पूरा कर सके। अभ्यास वर्ग के अंतिम सत्र में पुरानी इकाई को भंग कर गौतम कुमार की अध्यक्षता में नई इकाई का गठन किया गया।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments