17.1 C
New Delhi
Thursday, December 1, 2022
Homeराष्ट्रीयसरदार पटेल को अपमानित करने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी:...

सरदार पटेल को अपमानित करने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी: अमित शाह

– खंभात में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने की चुनावी सभा

– कांग्रेस की विफलता व भाजपा की उपलब्धियों को किया रेखांकित

अहमदाबाद, 22 नवंबर आंणद जिले के खंभात में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर सरदार पटेल की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सरदार पटेल को अपमानित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। कांग्रेस ने सिर्फ सरदार पटेल के नाम का उपयोग किया और उन्हें भारत रत्न देने में भी कांग्रेस ने उपेक्षा की, जिसे कोई भूल नहीं सकता है। जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केवडिया में विश्व की सबसे ऊंची सरदार पटेल की प्रतिमा स्थापित कर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दी।

गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के 93 में से 75 विधानसभा सीटों पर भाजपा नेताओं ने मंगलवार को धुआंधार प्रचार किया। इसके तहत केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने खंभात में जनसभा की। अपने भाषण में उन्होंने कांग्रेस की विफलता और भाजपा की उपलब्धियों को रेखांकित किया। शाह ने कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस हर जगह बोर्ड लगा कर कहती है कि कांग्रेस का काम बोलता है, लेकिन कांग्रेस राज्य में 1990 के बाद सत्ता में नहीं है, फिर यह काम कौन कर रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले 27 साल के शासन काल में राज्य का कायापलट किया है। शाह ने गरीबी-बेरोजगारी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने चुनाव के समय कांग्रेस नेताओं की सक्रियता पर भी चुटकी ली और कहा कि चुनाव देखकर कांग्रेस नेता नए-नए कपड़े सिलाकर तैयार हो गए हैं।

द्वारका में अनधिकृत मजारों से अतिक्रमण रुकवाया

शाह ने अपने भाषण में धारा 370, अयोध्या में राम मंदिर से लेकर ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर नरेन्द्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। देशभर में आस्था के केन्द्रों का मोदी सरकार में पुनरोत्थान करने का उल्लेख किया। कश्मीर में उरी की घटना के बाद सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा की। शाह ने कहा कि केन्द्र में दूसरी सरकारें होती तो क्या यह संभव हो पाता। कांग्रेस काल की नाकामियों की चर्चा कर उन्होंने कहा कि कर्फ्यू और अपराध उनकी देन थी। द्वारका में डिमोलिशन पर शाह ने कहा कि वहां अनधिकृत मजारों के जरिए अतिक्रमण का खेल शुरू हुआ था, जिसे समय रहते जमींदोज कर दिया गया। कांग्रेस के गरीबी हटाओ नारे का जिक्र कर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ नारा दिया और यदि इस क्षेत्र में काम किया होता तो नरेन्द्र मोदी सरकार को देश की 80 करोड़ जनता को कोरोना के दौरान सवा दो साल तक मुफ्त अनाज नहीं देना पड़ता, 1.5 करोड़ लोगों को सिलेण्डर नहीं देने पड़ते। कांग्रेस पर शाह ने आरोप लगाया कि उसने सिर्फ गरीबों का खून पिया। सभा के अंत में उन्होंने जनता को आगाह किया कि वे कांग्रेस को नहीं जीतने दें, नहीं तो फिर से कौमी दंगों का दौर शुरू हो जाएगा।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments