28.1 C
New Delhi
Sunday, September 25, 2022
Homeअन्य राज्यउत्तर प्रदेशयोगी आदित्यनाथ ही कराएंगे मथुरा व काशी का पुनरुद्धार : वासुदेवानंद सरस्वती

योगी आदित्यनाथ ही कराएंगे मथुरा व काशी का पुनरुद्धार : वासुदेवानंद सरस्वती

गोरखपुर, 14 सितंबर। ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की 8वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि समारोह को संबोधित करते हुए जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा कि गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बन रहा है। अब उन्हें पूरा विश्वास है कि मथुरा और काशी का पुनरुद्धार भी उन्हीं के नेतृत्व में होगा।

उन्होंने कहा कि मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर मंदिर और काशी में भगवान शिव के मंदिर का नवोत्थान शुरू हो तभी वह (वासुदेवानंद सरस्वती) अपने शरीर का परित्याग करने की इच्छा रखते हैं। ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ से जुड़े अपने संस्मरण सुनाते हुए शंकराचार्य ने कहा कि महंत जी की सरलता, सहृदयता और सर्वजनप्रियता का बखान कर पाना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1991 में वह गोरखनाथ मंदिर आए थे, एक स्थान पर पूजा करते देख महंत अवेद्यनाथ ने उनसे विशिष्ट स्थान पर पूजा करने का अनुरोध किया। वासुदेवानंद जी द्वारा ठिठोली करते हुए यह कहने पर कि तब तो यहां की गद्दी भी मेरी हो जाएगी, महंत जी ने सहज ही कह दिया, महाराज यह तो आपकी ही है।

वशिष्ठ आश्रम अयोध्या के महंत एवं पूर्व सांसद डॉ रामविलास वेदांती ने कहा कि मथुरा व काशी में भव्य मंदिर का निर्माण भी योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री रहते संभव होगा। उन्होंने आदित्यनाथ को धर्म व संस्कृति की रक्षा के लिए महायोगी गोरखनाथ द्वारा भेजा गया दूत बताया। ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का स्मरण करते हुए डॉ वेदांती ने कहा कि सभी संतों को एक मंच पर लाने का श्रेय ब्रह्मलीन महंत जी को ही है। उन्होंने राम मंदिर आंदोलन का नेतृत्व उस समय स्वीकार किया जब कांग्रेस सरकार के डर से कोई इसके लिए तैयार नहीं हो रहा था।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments