25.1 C
New Delhi
Monday, September 26, 2022
Homeहरियाणापंचकूला: अब ऑफलाइन नहीं ऑनलाइन होता जा रह है अपराध: ओपी सिंह

पंचकूला: अब ऑफलाइन नहीं ऑनलाइन होता जा रह है अपराध: ओपी सिंह

पंचकूला, 07 सितंबर। गृह मंत्रालय के निर्देश पर पिछले वर्ष से माह का पहला बुधवार प्रदेश में साइबर जागरूकता दिवस के तौर पर मनाया जा रहा है। स्टेट क्राइम ब्रांच हरियाणा , साइबर नोडल एजेंसी के तौर पर कार्य कर रही है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अपराध ओपी सिंह ने बताया कि अपराध ऑफलाइन ना होकर ऑनलाइन होता जा रहा है।

प्रदेश में जनता को जागरूक करने के लिए बुधवार को हर जिले में साइबर राहगीरी कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। पुलिस विभाग ने जिला प्रशासन और अन्य विभागों के साथ बुधवार को प्रदेश में साइबर राहगीरी कार्यक्रम आयोजित किये जिसे करीबन 17000 से अधिक लोगों ने भाग लिया। वहीं सब कार्यक्रमों को सोशल मीडिया के द्वारा भी साझा किया गया। बुधवार को सभी जिलों में आयोजित किए गए राहगीरी कार्यक्रमों की मुख्य थीम साइबर अपराध रही। साइबर हेल्पलाइन 1930 बाबत जनता को जागरूक करने के लिए जिलों में 1930 मीटर वाल्कथॉन, 2.5 किमी की मैराथन व 5 किमी की साइकिल रैली का आयोजन किया गया। वहीँ युवाओं की कार्यक्रमों में भागीदारी बढ़ाने के लिए पुलिस के अधिकारीयों के साथ रस्साकशी प्रतियोगिताएं में भाग लिया। इसके अलावा 5 किमी साइकिल रैली और मैराथन में का भी आयोजन जिला पुलिस द्वारा किया गया जिसमें आम जनता , छात्रों, व्यापारियों ने भाग लिया।

नुक्क्ड़ नाटक कर सिखाया साइबर अपराध से बचाव के तरीके

जागरूकता और मनोरंजन का समावेश इस बुधवार को प्रदेश के अलग अलग जिलों में देखने को मिला। प्रत्येक जिले में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सभी कार्यक्रम साइबर अपराध ,बच्चों में बढ़ता ड्रग्स का प्रभाव, सड़क सुरक्षा कार्यक्रम और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराध के इर्द गिर्द रहे। सभी कार्यक्रमों का मुख्या उद्देश्य साइबर हेल्पलाइन 1930 पर शिकायत करने और नई नई साइबर अपराध की मोडस ऑपरेंडी से कैसे सुरक्षा की जाए, पर आधारित रहा। कविताओं और नृत्य के माध्यम से बताया गया की किसी को भी अपनी निजी जानकारी ना दें। सोशल मिडिया पर अनजान व्यक्तियों से दोस्ती करने से परहेज़ करें। लाटरी और नौकरी से संबंधित झूठे प्रलोभनों से बचें। कोई अगर ब्लैकमेल कर रहा है तो डरें नहीं, माता पिता को बताएं। इसके अलावा स्कूलों के छात्रों के लिए पेंटिंग व स्लोगन प्रतियोगिताओं व मादक पदार्थों जैसे संवेदनशील मुद्दों पर व पुलिस के स्टाफ के लिए योग सत्र का आयोजन किया गया।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments