23.1 C
New Delhi
Thursday, October 6, 2022
Homeअन्य राज्यबिहारसेवा पखवाड़ा के तहत 107 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

सेवा पखवाड़ा के तहत 107 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

बगहा/वाल्मीकिनगर ,23 सितम्बर। भारत-नेपाल सीमा पर अवस्थित बेलवा घाट परिसर में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव सेवा पखवाड़ा के अवसर पर नमामि गंगे पर केंद्रित नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस से लेकर 2 अक्टूबर तक सेवा पखवाड़ा कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है । इसके तहत 22 सितंबर की शाम 107 वीं विशेष नारायणी गंडकी महाआरती की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद सतीशचंद्र दूबे ,विशिष्ट अतिथि बगहा विधायक श्रीराम सिंह, स्वरांजलि सेवा संस्थान के एमडी संगीत आनंद, भाजपा किसान मोर्चा के क्षेत्रीय प्रभारी ओमनिधि वत्स, कार्यक्रम प्रभारी धीरज मिश्रा, जिला उपाध्यक्ष मनोज सिंह, भाजपा जिला महामंत्री अचिंत्य कुमार लल्ला, जिला मंत्री सह सांसद प्रतिनिधि रितु जैसवाल, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के जिला संयोजक दीपू तिवारी, आचार्य पंडित उदय भानु चतुर्वेदी, भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष रानू मिश्रा, गोविंद जायसवाल ,बगहा पुलिस जिला के नगर अध्यक्ष विजय साहू, कोषाध्यक्ष शिवचंद्र शर्मा, एवम् कामेश्वर श्रीवास्तव, ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया।

भाजपा द्वारा आयोजित सेवा पखवाड़ा कार्यक्रम के तहत आगत मुख्य अतिथियों को समाजसेवी संगीत आनंद ने फूलों की माला और अंगवस्त्रम द्वारा सम्मानित किया। बगहा विधायक श्रीराम सिंह ने कहा कि 17 सितंबर को हम सभी विश्वकर्मा जयंती मनाते हैं और धूमधाम से भगवान विश्वकर्मा की पूजा करते हैं, जो संसार के सबसे बड़े शिल्पकार थे और इसी 17 सितंबर को देश को नए रूप में गढ़नेवाले आधुनिक शिल्पकार, विकसित भारत के निर्माता नरेंद्र मोदी का भी जन्म दिवस है। राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे ने भाजपा सरकार की शानदार उपलब्धियों पर विस्तृत चर्चा की। उन्होंने कहा कि वाल्मीकि नगर एलसीएस( भंसार) जल्द ही खुलेगा । सारी कागजी प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई है।

वाल्मीकि नगर भंसार खुलने से व्यापारियों को सुविधा मिलेगी। दोनों देशों से सामान का आयात निर्यात हो सकेंगे ।रोजगार के अवसर भी मिलेंगे । उन्होंने कहा कि गंगा से भी ज्यादा नारायणी गंडकी महाआरती का महत्व है। क्योंकि इसमें विष्णु भगवान अभी भी साक्षात शालिग्राम के रूप में पाए जाते हैं। दूधिया रोशनी में 107 वीं विशेष नारायणी गंडकी महा आरती की गई। अच्छी व्यवस्था के लिए कार्यक्रम प्रभारी धीरज मिश्रा को सांसद ने अंगवस्त्रम द्वारा सम्मानित किया। भारत-नेपाल सीमा पर नारायणी गंडकी महाआरती द्वारा वाल्मीकि नगर को पर्यटन के मानचित्र पर लाने हेतु,तथा विगत 10 वर्षों से लावारिस दिव्यांग जनों को भोजन देने हेतु संस्था के एमडी और समाजसेवी संगीत आनंद सम्मानित किए गए। मंच संचालन मनोज सिंह ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन भाजपा के ओम निधि वत्स ने किया।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments