28.1 C
New Delhi
Thursday, October 6, 2022
Homeअन्य राज्यउत्तर प्रदेशटेराकोटा शिल्पकारों का हमदम बन कारोबार को परवान चढ़ायेगा बैंक

टेराकोटा शिल्पकारों का हमदम बन कारोबार को परवान चढ़ायेगा बैंक

– टेराकोटा गांव औरंगाबाद और गुलरिहा का भ्रमण कर चुके हैं पंजाब एंड सिंध बैंक के अफसर

– 5000 टेराकोटा शिल्पकारों को 25 करोड़ का लोन देने की प्रतिबद्धता जता चुका है बैंक

गोरखपुर, 05 सितंबर। लगातार बुलंदियों को छू रहे टेराकोटा शिल्प के उद्यम को वित्त पोषण में और सहूलियत मिलने जा रही है। टेराकोटा शिल्पियों के कारोबार को रफ्तार देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से किए गए वादे के अनुरूप पंजाब एंड सिंध बैंक शिल्पियों के द्वार पहुंचा है।

बैंक के अधिकारियों ने टेराकोटा शिल्पकारो से उनकी वित्तीय जरूरतों की जानकारी ली। बैंक अफसरों ने सोमवार को ग्रामीणों को बताया कि उनकी कला को उद्योग के रूप में स्थापित करने के प्रदेश सरकार के प्रयास में बैंक भी हमकदम बन गया है।

ज्ञातव्य हो कि बैंक ने गोरखपुर के 5000 टेराकोटा शिल्पियों के लिए 25 करोड़ रुपये लोन वितरण का लक्ष्य रखा है। इसके बावत बैंक अफ़सरान गांव पहुंच रहे हैं और टेराकोटा से जुड़े शिल्पकार परिवारों को मदद देने की वकालत कर रहे हैं।

हेरिटेज फाउंडेशन की संरक्षिका डॉ अनिता अग्रवाल कहती हैं कि गोरक्षनगरी की धरोहर एवं विशिष्ट टेराकोटा मिट्टी शिल्प को योगी सरकार ने महत्वाकांक्षी एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना में शामिल कर न केवल संरक्षण किया बल्कि प्रशिक्षण, निशुल्क यंत्र-उपकरण व अनुदानित लोन देकर इसे फर्श से अर्श तक पहुंचा दिया है। नायाब होने के बावजूद कभी टेराकोटा के उत्पादों को खरीदारों का टोटा था, लेकिन अब सरकार की तरफ से कराई गई ब्रांडिंग का यह जलवा है कि इस शिल्प के उत्पादों की डिमांड बढ़ गई है। शिल्पकारों के पास तीन से चार महीने के लिए एडवांस ऑर्डर रहता है। इतना ही नहीं, इसके उत्पाद ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से लेकर ग्लोबल मार्केट तक उपलब्ध हैं। सरकार के प्रयासों से टेराकोटा को जीआई (जियोग्राफिकल इंडिकेशन) टैग भी हासिल है।

सीएम से मिल चुके है बैंक अफ़सरान

सीएम योगी के प्रयासों से जुड़ने के लिए पंजाब एंड सिंध बैंक के कार्यकारी निदेशक रामजस यादव के नेतृत्व में गत 23 अगस्त को बैंक के अधिकारियों ने सीएम योगी से लखनऊ में मुलाकात की थी। टेराकोटा शिल्पकारों के लिए अपनी कार्य-योजना की जानकारी दी थी। अधिकारियों ने सीएम को बताया था कि य़ह बैंक उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) विभाग के साथ मिलकर गोरखपुर के 5000 टेराकोटा शिल्पकारों को 25 करोड़ का लोन उपलब्ध कराएगा। इस वित्त पोषण से शिल्पी अपने उद्यम का आकार और विस्तारित कर सकेंगे।

पहले भी गांव जा चुके हैं बैंक अधिकारी

बैंक के मुख्य प्रबंधक विनय कुमार ओझा के नेतृत्व में पहले भी अधिकारी गांव जा चुके हैं। इनके साथ वरिष्ठ प्रबंधक शैलेंद्र प्रताप सिंह, वरिष्ठ शाखा प्रबंधक गोलघर गोरखपुर शाखा अरविंद कुमार मिश्र, शाखा प्रबंधक बशारतपुर गोरखपुर पंकज जायसवाल व शाखा प्रबंधक बस्ती संदीप यादव टेराकोटा के लिए मशहूर औरंगाबाद और गुलरिहा पहुंचे थे। यहां भोला प्रसाद प्रजापति, रामफल, गुलाब चंद प्रजापति, गब्बू, लालचंद प्रजापति, हीरालाल प्रजापति, राजन प्रजापति, रविन्द्र प्रजापति से मुलाकात की। उनके हुनर को देखा, बाजार, उत्पादों की मांग और उनके टर्नओवर के बारे में जानकारी ली। शिल्पकारों को त्वरित गति और सरलता से लोन देने की बात कही। शिल्पकारो को डिजिटल पेमेंट सिस्टम और क्यूआर कोड के जरिये लेनदेन के बारे में भी बताया गया।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments